Normalization क्या होता है Hindi में |Normalization in DBMS

नमस्कार दोस्तों, प्रतियोगी परिकक्षाओ और B.SC. कंप्यूटर विज्ञान में यह प्रशन पूछा जाता है कि Normalization क्या है और किस काम में आता है। अगर आपने सिर्फ इसके बारे में सुना है लेकिन कभी इसका काम नहीं पड़ा और इसे समझा नहीं है तो आज मैं Normalization पूरी जानकारी देने वाला हु. लेकिन इसके पहले इसके कुछ बेसिक जान लीजिये।
normalization-in-hindi

Normalization कि Definition in Hindi

Normalization एक टेबल डिजाइनिंग method होती है जिसका उपयोग रिलेशनल डेटाबेस को design करने और डाटा कि Redundancy को समाप्त करने के लिए किया जाता है। यह 2 चरण कि process होती है. जो कि लोकल डाटा से Repeating Groups को हटाकर Tabular फॉर्म में बनती है नोर्मालाइजेसन कि process के दोरान लोकल डाटा कि एक जेसी Entries को हटा देती है.
यहाँ पर हमने नोर्मालाइजेसन कि 2 स्तरीय process को बताया है.
Normalization कि 2 Steps
First Step -: पहली step में यह Relational टेबल में उपस्तिथ Redundant data को बाहर करता है या Remove कर देता है, यहाँ Redundant डेटा से आशय वह Data जो एक से अधिक बार store किया गया हो। यानि कि first step में नोर्मालाइजेसन एक फ़िल्टर कि तरह काम करता है.
Second Step -: दूसरी step में, Normalization confirm करता है कि table में केवल उससे related डेटा ही store किया गया हो। अगर यह confirm हो जाता है तो यानि कि वह उस डाटा से Redundancy समाप्त हो चुकी है.
नोर्मालाइजेसन का सिद्धांत Normal Form के concept पर आधारित है यानी कि एक relational table अगर constrains के समूह को संतुष्ट करती है तो हम कह सकते है कि रिलेशनल table Normal Form में है।

Concept of Normalization in Hindi

Normalization का काम एक ऐसी रिलेशनल table का group बनाना होता है जो Redundant डेटा से मुक्त हो यानी कि उसमें अनावश्यक डेटा या डुप्लीकेट Entry न हो। इसका मतलब ये है कि table Third नार्मल फॉर्म में हो क्योकि रिलेशनल टेबल का जब 3NF या Third Normal Form तक normalization कर लिया जाता है तो हम काफी हद तक बेकार डेटाबेस design से जुड़ी problem को खत्म कर देते है।
एक रिलेशनल टेबल तब ही 3NF में आती है, जब Non Key Columns (x) mutually Independent हो और (y) Primary key पर dependent हो। Mutually Independent से तात्पर्य यह है कि कोई भी non key column किसी दूसरे column के combination पर निर्भर नही होना चाहिए।

Normalization का कार्य

Normalization का काम redundancy को घटना यानि कि डुप्लीकेट entry को हटाना होता है और redundancy को कम करने से मतलब एक information को एक ही बार स्टोर करना होता है। एक ही Information को एक से ज्यादा बार स्टोर करने से हमारा storage waste हो जाता है और डाटा मैनेज करने में problem आती है। रिलेशनल Normalized से मतलब है कि जब भी डेटाबेस में रिलेशन्स को alter किया जाए, तो इनफार्मेशन गुम नही होना चाहिए।
आशा करता हु कि आप लोगो को Normalization क्या होता है और इसका Basic concept तो आज clear हो गया होगा आपको अगर हमारा पोस्ट अच्छा लगा तो आप इसे शेयर करे और अगर इससे जुड़ा कोई सवाल है तो कमेंट में जरुर बताये।

No comments:

Post a Comment